यूपी में बर्फीली हवाओं और बारिश से बढ़ेगी ठंड – Weather Update

यूपी में बर्फीली हवाओं और बारिश से बढ़ेगी ठंड
image source : jagranimages.com

यूपी में लोगों को सिर्फ 4 दिनों के लिए ठंड से थोड़ी राहत मिली थी। लेकिन अब फिर से सर्दी ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। आगे भी यूपी में गलन वाली ठंड जारी रह सकती है। मंगलवार को धूप निकलने के बाद भी यूपी की ठंड ने लोगों को कांपने पर मजबूर कर दिया। वहीं मौसम विभाग का कहना है कि 22 और 23 जनवरी को हल्की बारिश होने के साथ ही ठंड में इज़ाफा हो सकता है। 

मौसम में बदलाव की ये है वजह 
22 और 23 जनवरी को बारिश और गरज – चमक के साथ बौछार पड़ने की मुख्य वजह एक नए पश्चिमी विक्षोभ (Western Disturbance) का सक्रीय होना है। आज भी मौसम विभाग द्वारा प्रदेश के कुछ हिस्सों में शीतलहर चलने की चेतावनी जारी की गई है। 

ऐसा रहेगा देशभर का मौसम 
मौसम विभाग (IMD)
के मुताबिक 18 जनवरी की रात को नया पश्चिमी विक्षोभ हिमालय तक पहुंच सकता है। इसकी वजह से अगले 24 घंटे तक मौसम शुष्क बना रहेगा। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में शीतलहर (Coldwave) और भीषण शीतलहर चलने की संभावना है। 

मौसम बदलने वाला है अपना रुख 
मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि मौसम में बदलाव बृहस्पतिवार की रात से महसूस किया जा सकता है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह ने बताया है कि प्रदेश के जिन इलाकों में तापमान 4 डिग्री या उससे कम दर्ज हो रहा है वहां पाला पड़ने की संभावना है। इन सबके बीच मंगलवार को मुजफ्फरनगर में दिन का न्यूनतम पारा 1.7 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि कानपुर में ये दो डिग्री दर्ज हुआ।

Total
0
Shares
Previous Post
जानिए मासिक शिवरात्रि की सही तिथि और मुहूर्त - Magh Masik Shivratri 2023

जानिए मासिक शिवरात्रि की सही तिथि और मुहूर्त – Magh Masik Shivratri 2023

Next Post
रेलवे ने करोड़ों यात्रियों को दिया बड़ा झटका

रेलवे ने करोड़ों यात्रियों को दिया बड़ा झटका – Railway on General Coach

Related Posts
Total
0
Share
भारत में सबसे ऊंची मूर्तियां नवरात्रि के 9 दिन, 9 कलर, 9 आउटफिट्स घर पर हरा धनिया उगाने के आसान तरीके भारत के सबसे ऊँचे टीवी टावर राजस्थान के मशहूर गायक और गायिकाएं बिहार के बेस्ट ट्यूरिस्ट प्लेसेस बिहार के मशहूर व्यक्तित्व बिहार के मशहूर व्यंजन बिहार की संस्कृति में क्या है खास ? नवरात्रि के शुभ ज्योतिषीय उपाय