क्या पहलवानों का आंदोलन पड़ा नरम?

r25IQAEAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAALwa9YAABYDw1hAAAAABJRU5ErkJggg== क्या पहलवानों का आंदोलन पड़ा नरम?

कुश्ती संघ के अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे रेसलर बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक और विनेश फोगाट रेलवे में अपनी जॉब पर वापस लौट गए हैं। तीनों रेलवे में नौकरी करते हैं।

पहले खबर ये आई थी कि पहलवानों ने आंदोलन से भी नाम वापस ले लिया है। लेकिन, साक्षी मलिक ने ट्वीट करके इस तरह की खबरों का खंडन किया है।

साक्षी ने ट्वीट किया, ”ये खबर बिलकुल ग़लत है। इंसाफ़ की लड़ाई में ना हम में से कोई पीछे हटा है, ना हटेगा। सत्याग्रह के साथ साथ रेलवे में अपनी ज़िम्मेदारी को साथ निभा रही हूँ। इंसाफ़ मिलने तक हमारी लड़ाई जारी है। कृपया कोई ग़लत खबर ना चलाई जाए।”

की थी गृह-मंत्री अमित शाह से मुलाकात 

दरअसल, भारतीय कुश्ती संघ (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की मांग कर रहे रेसलर्स विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। यह मुलाकात करीब दो घंटे शनिवार देर रात 11 बजे हुई। 

सूत्रों के अनुसार अमित शाह ने कहा कि इस मामले में कानून अपना काम करेगा। पुलिस जांच कर रही है। उन्होंने पहलवानों से इतना जरूर पूछा कि क्या पुलिस को अपना काम करने का समय नहीं देना चाहिए?

क्या है आरोप?

विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया के नेतृत्व में तमाम पहलवानों ने कुश्ती संघ के अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। बृजभूषण की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ये पहलवान 23 अप्रैल से जंतर मंतर पर धरना दे रहे थे। हालांकि, 28 मई को पुलिस ने जंतर मंतर पर धरने वाली जगह को खाली करा दिया था।   

दिल्‍ली पुलिस ने पीड़ित पहलवानों की शिकायतों पर 28 मई को दो एफआईआर दर्ज की थीं। पहली FIR में छह बालिग पहलवानों के आरोपों का ब्‍योरा है। इसमें बृजभूषण शरण सिंह के अलावा WFI सचिव विनोद तोमर का भी नाम है। दूसरी FIR एक नाबालिग के पिता की शिकायत के आधार पर दर्ज हुई है। यौन शोषण की ये कथित घटनाएं 2012 से 2022 के बीच हुईं।

हालाँकि बृजभूषण शरण सिंह ने अपने बचाव में कहा कि अगर उनके खिलाफ एक भी आरोप साबित हो जाता है तो वह खुद को फांसी लगा लेंगे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद ने यह भी कहा कि सभी पहलवान उनके बच्चों की तरह हैं और वह उन्हें दोष नहीं देंगे क्योंकि उनकी सफलता में उनका खून-पसीना भी गया है।

कौन हैं बृजभूषण शरण सिंह?

बृजभूषण शरण सिंह उत्तर प्रदेश के क़ैसरगंज से बीजेपी के सांसद हैं और भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष भी हैं। वे पाँच बार बीजेपी से और वर्ष 2009 में एक बार समाजवादी पार्टी से सांसद रह चुके हैं। गोंडा से आने वाले बृजभूषण सिंह पहलवानी भी करते थे।  

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत के राष्ट्रपति | President of India

भारत के राष्ट्रपति : संवैधानिक प्रमुख 

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत के प्रधानमंत्री - Prime Minister of India

भारत के प्रधानमंत्री – Prime Minister of India

Total
0
Shares
Previous Post
नहीं रहे ‘शकुनि मामा’

नहीं रहे ‘शकुनि मामा’

Next Post
मुख़्तार अंसारी को मिली उम्रकैद की सज़ा 

मुख़्तार अंसारी को मिली उम्रकैद की सज़ा 

Related Posts
Total
0
Share