गर्भपात के कारण : इन वजहों पर दें ध्यान!

elWgAAAABJRU5ErkJggg== गर्भपात के कारण : इन वजहों पर दें ध्यान!

गर्भवती होना और मां बनना किसी भी महिला के जीवन का एक खूबसूरत पल होता है। लेकिन कई बार मिसकैरेज यानी गर्भपात इन खुशियों को खत्म कर देता है। 20वें सप्ताह से पहले गर्भावस्था की समाप्ति को गर्भपात कहा जाता है। यह स्थिति किसी भी महिला को मानसिक, शारीरिक और भावनात्मक रूप से प्रभावित करती है। विशेषज्ञों के मुताबिक, करीब 10-20 फीसदी गर्भधारण में महिलाओं को इसका सामना करना पड़ता है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, जिन पर समय रहते ध्यान दिया जाए तो इससे बचा जा सकता है।

Symptoms of miscarriage गर्भपात के कारण : इन वजहों पर दें ध्यान!

गर्भपात के सामान्य कारण

  • गर्भपात के कारणों में कई गुणसूत्र असामान्यताएं शामिल हैं। क्रोमोसोमल समस्याओं में भ्रूण में बहुत अधिक या बहुत कम क्रोमोसोम होना शामिल है। कई बार आनुवंशिक स्थितियों के कारण भी ऐसा हो सकता है।
  • गुणसूत्रों में गड़बड़ी भ्रूण को ठीक से विकसित होने से रोकती है, जिससे गर्भपात हो सकता है।
  • महिलाओं के शरीर में हार्मोनल असंतुलन भी इसका कारण है। कम प्रोजेस्टेरोन का स्तर भ्रूण को गर्भाशय में ठीक से प्रत्यारोपित होने से भी रोकता है, जिससे गर्भपात हो सकता है।
  • कई बार गर्भाशय में फाइब्रॉएड या गर्भाशय का सही आकार न होने के कारण गर्भधारण ठीक से नहीं हो पाता है।
  • जिन महिलाओं को मधुमेह, थायराइड या कोई ऑटोइम्यून स्वास्थ्य स्थिति है, उनमें भी गर्भपात का खतरा हो सकता है। इसलिए, गर्भावस्था के दौरान इन स्थितियों को ठीक से प्रबंधित करना महत्वपूर्ण है।
  • कभी-कभी कुछ बैक्टीरियल और वायरल संक्रमण भ्रूण को ठीक से विकसित नहीं होने देते और गर्भपात का कारण बनते हैं।
  • अगर महिला की उम्र 35 साल या उससे अधिक हो तो भी गर्भपात हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पुराने अंडों में क्रोमोसोमल असंतुलन अधिक होता है।
  • कुछ महिलाओं में स्वास्थ्य स्थितियों के कारण गर्भपात होने की संभावना अधिक होती है। ऐसी स्थिति में बार-बार गर्भपात हो सकता है।
  • यदि आप गर्भावस्था के दौरान या उससे पहले भी अत्यधिक धूम्रपान या शराब पीते हैं, तो गर्भपात का खतरा बढ़ सकता है। क्योंकि ये चीजें बढ़ते भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकती हैं।
  • यदि गर्भावस्था से पहले या गर्भावस्था के दौरान आपका वजन अधिक है, तो इससे गर्भपात का खतरा भी बढ़ सकता है, इसलिए गर्भावस्था की योजना बनाने से पहले अपने वजन को नियंत्रित करने की सलाह दी जाती है।
  • अगर आपको डायबिटीज, पीसीओएस जैसी समस्याएं हैं तो ये भी गर्भपात का कारण बन सकती हैं।

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

Bharatiya Janata Party

भारतीय जनता पार्टी – BJP

भारत के राष्ट्रपति | President of India

भारत के राष्ट्रपति : संवैधानिक प्रमुख 

Total
0
Shares
Previous Post
जे. पी. दत्ता - J.P. Dutta Movies

जे. पी. दत्ता – J.P. Dutta Movies

Next Post
Happy Birthday Gauri Khan - 8 अक्टूबर : गौरी छिब्बर से गौरी खान तक

Happy Birthday Gauri Khan – 8 अक्टूबर : गौरी छिब्बर से गौरी खान तक

Related Posts
Total
0
Share