देश में चलेगी पहली रिंग मेट्रो, दिल्ली वालों के लिए आसान होगा सफर

देश में चलेगी पहली रिंग मेट्रो, दिल्ली वालों के लिए आसान होगा सफर
image source : static2.tripoto.com

दिल्ली में पहली बार रिंग मेट्रो की शुरुआत होने जा रही है। 2024 तक इससे जुड़ा सारा काम पूरा हो जाएगा। यह देश की पहली रिंग मेट्रो होने के साथ ही देश का पहला सबसे बड़ा सिंगल कॉरिडोर होगा जिसकी लम्बाई 71.15 किलोमीटर होगी। रिंग मेट्रो का निर्माण मेट्रो फेज – 4 में किया जाएगा। यह कॉरिडोर मजलिस पार्क से मौजपुर के लिए तैयार किया जाएगा और इन दोनों मेट्रो स्टेशन के बीच बन रहे इस कॉरिडोर की लम्बाई 12.55 किलोमीटर होगी। मेट्रो के इस नेटवर्क की वजह से पूर्व, उत्तरी, दक्षिणी और पश्चिमी दिल्ली आपस में सीधे जुड़ जाएंगी।

बता दें कि मेट्रो के इस हिस्से पर चल रहा काम अपने तय समय से देरी पर चल रहा है। फेज – 4 में तीन कॉरिडोर में मजलिस पार्क से मौजपुर का हिस्सा सबसे पहले खुलेगा, लेकिन यह अपने तय समय से 15 मिनट की देरी से पूरा होगा। पहले इस कॉरिडोर का काम वर्ष 2023 के सितम्बर माह में पूरा होना था, लेकिन कुछ कारणों की वजह से इसका काम वर्ष 2024 में पूरा होगा। इस पर कुल 8 नए मेट्रो स्टेशन बनेंगे। भजन पूरा से यमुना विहार के साथ एक मेट्रो पिलर के साथ फ्लाईओवर भी बनाया जाएगा। मसलन नीचे सड़क, उसके ऊपर फ्लाईओवर और उसके ऊपर मेट्रो। यह फ्लाईओवर 14 किलोमीटर लंबा होगा। वर्तमान में रिंग कॉरिडोर का 58 किलोमीटर से ज़्यादा हिस्से पर पहले से मेट्रो का परिचालन हो रहा है। इस पर कुल 36 मेट्रो स्टेशन है।

आपस में जुड़ेंगे 11 इंटरचेंज स्टेशन
रिंग मेट्रो का निर्माण होने के बाद आप दिल्ली ही नहीं दिल्ली एनसीआर के शहरों नोएडा, गुरुग्राम, गाज़ियाबाद, फरीदाबाद, बहादुरगढ़ भी आसानी से पहुँच जाएंगे। वहीं दिल्ली के किसी भी रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर पहुंचना भी पहले की तुलना में काफी आसान हो जाएगा। 11 इंटरचेंज मेट्रो स्टेशन की वजह से ऐसा करना बेहद आसान होगा। इस पर पड़ने वाले इंटरचेंज स्टेशनों में आजादपुर,नेताजी सुभास प्लेस, पंजाबी बाग पश्चिम, राजौरी गार्डन, दुर्गाबाई देशमुख, दिल्ली हाट आईएनऐ, लाजपत नगर, मयूर विहार फेज – 1, आनंद विहार आईएसबीटी, कड़कड़डूमा और वेलकम स्टेशन होगा। इससे आवागमन का समय बचने के साथ ही यात्रियों का किराया भी बचेगा।

तीन कॉरिडोर के निर्माण को पूरा होने में लगेगा 30 माह का समय
मेट्रो फेज – 4 में तीन मेट्रो कॉरिडोर का निर्माण किया जा रहा है जिनकी लम्बाई 6510 किलोमीटर है। इनमें मजलिस पार्क से मौजपुर, जनकपुरी पश्चिम से आरके आश्रम और ऐरोसिटी से तुगलकाबाद का काम शामिल है, जिन्हे पूरा होने में 30 महीने का समय लग सकता है।

दरअसल पेड़ों की कटाई को लेकर मंज़ूरी ना मिल पाने की वजह से ही इस काम में देरी हो रही है। इसे लेकर डीएमआरसी ने 2025 तक का लक्ष्य निर्धारित किया था लेकिन अब इस लक्ष्य को पूरा होने में और देरी हो सकती है। देरी की वजह से मेट्रो के तीन कॉरिडोर को निर्मित करने की लागत में भी बढ़ोतरी हुई है। पहले तीन कॉरिडोर की लागत 10479.6 करोड़ थी जो अब बढ़ कर 12048.5 करोड़ रुपय हो गई है।

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें।

देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले पाने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
Arijit Singh

अरिजीत सिंह – Arijit Singh

AAFocd1NAAAAAElFTkSuQmCC Lok Sabha Election 2024: 'जलपान से पहले मतदान', PM मोदी

Lok Sabha Election 2024: ‘जलपान से पहले मतदान’, PM मोदी

World Book Day

World Book and Copyright Day 2024: इतिहास और महत्त्व

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत के राष्ट्रपति | President of India

भारत के राष्ट्रपति : संवैधानिक प्रमुख 

Total
0
Shares
Leave a Reply
Previous Post
राजधानी दिल्ली के पारे में हुआ इज़ाफ़ा, दिनभर निकली धूप - Delhi Weather Update

राजधानी दिल्ली के पारे में हुआ इज़ाफ़ा, दिनभर निकली धूप – Delhi Weather Update

Next Post
85 दिन बाद खुला खाटू श्याम मंदिर, जाने दर्शन की व्यवस्था - Khatu Shyam Mandir

85 दिन बाद खुला खाटू श्याम मंदिर, जाने दर्शन की व्यवस्था – Khatu Shyam Mandir

Related Posts
Total
0
Share