भारतीय सेना दिवस – Indian Army Day

भारतीय सेना दिवस - Indian Army Day

भारत में, सेना दिवस हर साल 15 जनवरी को राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के साथ-साथ सभी मुख्यालयों में परेड और अन्य सैन्य शो के रूप में मनाया जाता है। भारतीय सेना दिवस इसलिए भी मनाया जाता है क्योंकि इस दिन फील्ड मार्शल के.एम. करिअप्पा पहले भारतीय सेना प्रमुख बने थे। यह दिन उन बहादुर सैनिकों को सलाम करने का दिन है जिन्होंने देश और उसके नागरिकों की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी।

भारतीय सेना दिवस की उत्पत्ति

सेना दिवस लेफ्टिनेंट जनरल कोडंडेरा एम. करियप्पा (जो बाद में फील्ड मार्शल बने) की मान्यता में मनाया जाता है, जिन्होंने भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस रॉय बुचर से भारतीय सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ के रूप में पदभार संभाला था। भारतीय सेना की आधिकारिक स्थापना 1895 में हुई थी। हालाँकि, भारत को अपना पहला सेना प्रमुख 1949 में मिला।

indian army 624c102a93951 760x500 1 भारतीय सेना दिवस - Indian Army Day

भारतीय सेना दिवस की स्थापना 1 अप्रैल 1895 को अंग्रेजों द्वारा की गई थी लेकिन भारत में सेना दिवस 15 जनवरी को मनाया जाता है। भारतीय सेना मूल रूप से ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना से उत्पन्न हुई थी जो बाद में ब्रिटिश भारतीय सेना बन गई और स्वतंत्रता के बाद अंततः इसे राष्ट्रीय सेना के रूप में जाना जाता है।

फील्ड मार्शल के. एम. करिअप्पा

fb 1509795726 760x500 1 भारतीय सेना दिवस - Indian Army Day

फील्ड मार्शल कोडंडेरा मडप्पा करियप्पा (28 जनवरी 1899 – 15 मई 1993) का जन्म 1899 में कर्नाटक में हुआ था। वह एक भारतीय सैन्य अधिकारी और राजनयिक थे। उन्होंने 1947 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान पश्चिमी मोर्चे पर भारतीय सेना का नेतृत्व किया। 1949 में, उन्हें भारतीय सेना का कमांडर-इन-चीफ नियुक्त किया गया। वह 14 जनवरी 1986 मे फील्ड मार्शल की पांच सितारा रैंक हासिल करने वाले केवल दो भारतीय सेना अधिकारियों में से एक हैं.

सेना दिवस की फोटो डाउनलोड करें

भारतीय सेना दिवस का महत्व

सेना दिवस सभी सेना कमान मुख्यालयों में मनाया जाता है। यह दिन भारतीय सेना के उन सभी सैनिकों को सम्मानित करने के लिए है जो निस्वार्थ भाव से देश की सेवा करते हैं और भाईचारे की सबसे बड़ी मिसाल कायम करते हैं। उन सभी बहादुर सेनानियों को सलाम करने का दिन जिन्होंने राष्ट्र की अखंडता को बनाए रखने के लिए अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने जीवन सहित सब कुछ न्यौछावर कर दिया।

thumbnail army personnel on Army Day 760x524 2 भारतीय सेना दिवस - Indian Army Day

यह भारतीय सेना का अदम्य साहस, वीरता, बलिदान और सेवा ही है जो भारत को सुरक्षित रखती है। भारत भारतीय सेना को सलाम करता है और उन पर गर्व करता है. यह दिन पूरे देश में मनाया जाता है लेकिन मुख्य सेना दिवस परेड दिल्ली छावनी के करियप्पा परेड ग्राउंड में आयोजित की जाती है। इस दिन वीरता पुरस्कार और सेना पदक भी प्रदान किये जाते हैं।

सेना दिवस कब मनाया जाता है?

राष्ट्रीय सेना दिवस हर साल 15 जनवरी को मनाया जाता है।

भारतीय सेना की स्थापना कब हुई थी?

भारतीय सेना की स्थापना 1 अप्रैल 1895 को अंग्रेजों द्वारा की गई थी।

भारतीय सेना का आदर्श वाक्य क्या है?

भारतीय सेना का आदर्श वाक्य ‘सेवा परमो धर्म’ है।

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत के उप-राष्ट्रपति - Vice Presidents of India

भारत के उप-राष्ट्रपति – Vice Presidents of India

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

Total
0
Shares
Previous Post
kauthig 2024

इंदिरापुरम, गाजियाबाद उत्तरैणी मकरैणी कौथिग महोत्सव-2024

Next Post
इंदिरापुरम, गाजियाबाद में उत्तरैणी मकरैणी कौथिग महोत्सव-2024 का हुआ सफल समापन

इंदिरापुरम, गाजियाबाद में उत्तरैणी मकरैणी कौथिग महोत्सव-2024 का हुआ सफल समापन

Related Posts
Total
0
Share