जनसंख्या नियंत्रण कानून – Population control law

जनसंख्या नियंत्रण कानून - Population control law

 ‘विश्व जनसंख्या दिवस’ पर जनसंख्या नियंत्रण को लेकर मचा घमासान! क्या है मामला – There is an uproar over population control on ‘World Population Day’, what is the matter?

वैश्विक स्तर पर जनसंख्या के लगातार बढने से कई महत्वपूर्ण चुनौतियां उत्पन्न हुई हैं। भारत जनसंख्या के मामले में शीर्ष पर पहुँच चुका है जो इस समय की सबसे गंभीर समस्या बन गयी है। वैश्विक जनसंख्या वृद्धि से जुड़े प्रमुख मुद्दों तथा विकास एवं स्थिरता के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रतिवर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है।

क्यों मनाया जाता है इस दिन विश्व जनसंख्या दिवस – Why is World Population Day celebrated on this day?

11 जुलाई 1989 को वैश्विक जनसंख्या 5 अरब हो गयी थी। इस उभरती हुई समस्या ने पुरे विश्व का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया। चारों तरफ इस समस्या की चर्चा होना शुरू हो गया। इस कारण से इस दिन को ‘पांच अरब का दिन’ मनाया जाने लगा।

1989 में ही संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (U.N.D.P) की परिषद ने ‘विश्व जनसंख्या दिवस’ की स्थापना की। 

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, “विश्व जनसंख्या दिवस, जिसका उद्देश्य जनसंख्या संबंधी मुद्दों की तात्कालिकता और महत्व पर ध्यान केंद्रित करना है, की स्थापना 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की तत्कालीन शासी परिषद् द्वारा की गई थी, जो 11 जुलाई 1987 को मनाए गए पांच अरब दिवस से उत्पन्न रुचि का परिणाम था।”  

वर्तमान में क्या है मुद्दा – What is the current issue

अभी हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की ‘ऑब्जर्वर’ नामक पत्रिका में एक लेख प्रकाशित हुआ है। जिसमें हिन्दुओं की जनसंख्या घटने तथा मुस्लिमों की संख्या के बढ़ने की बात की गयी है। चार राज्यों के तथ्य भी उसमे दिये गए हैं। वहीं कैबिनेट मंत्री गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण कानून को और ज्यादा सख्त बनाने की मांग की है। उनके अनुसार, “भारत चीन से भले ही जनसंख्या के मामले में शीर्ष पर पहुँच गया हो लेकिन क्षेत्रफल के हिसाब से अभी भी उसके पीछे है। ऐसे में जनसंख्या कानून को और ज्यादा सख्त बनाने की जरूरत है। अगर कोई इस कानून का पालन नहीं करेगा तो उसके अधिकार छीन लिए जायेंगे।                    

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
भारत के राष्ट्रपति | President of India

भारत के राष्ट्रपति : संवैधानिक प्रमुख 

pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

भारत के उप-राष्ट्रपति – Vice Presidents of India

भारत के उपराष्ट्रपति – Vice Presidents of India

Total
0
Shares
Leave a Reply
Previous Post
कुमारस्वामी कामराज : जयंती विशेष 15 जुलाई 

कुमारस्वामी कामराज : जयंती विशेष 15 जुलाई 

Next Post
भारतीय टीम का जिम्बाब्वे दौरा - Indian team tour to Zimbabwe

भारतीय टीम का जिम्बाब्वे दौरा – Indian team tour to Zimbabwe

Related Posts
Total
0
Share