मैथिलीशरण गुप्त : जन्मदिन विशेष 3 अगस्त

hAFUBAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAALwGsYoAAaRlbhAAAAAASUVORK5CYII= मैथिलीशरण गुप्त : जन्मदिन विशेष 3 अगस्त

राष्ट्रकवि ‘मैथिलीशरण गुप्त’ हिन्दी के प्रसिद्ध कवि थे। उनकी कृति भारत-भारती (1912) भारत के स्वतन्त्रता संग्राम के समय में काफी प्रभावशाली सिद्ध हुई थी। इसी कारण से महात्मा गांधी ने उन्हें ‘राष्ट्रकवि’ की पदवी भी दी थी। आज 3 अगस्त, उनकी जयंती पर इस लेख के माध्यम से जानतें हैं उनके बारे में कुछ बातें।

संक्षिप्त जीवन परिचय – Biography of Maithili Sharan Gupt

वास्तविक नाम (Real Name)मैथिलीशरण गुप्त
पेशा (Profession )कवि, लेखक
जन्म (Date of Birth)3 अगुस्त 1886
निधन 12 दिसंबर 1964
जन्मस्थान (Birth Place) झांसी ( चिरगांव )
प्रमुख रचनाएं भारत भारती, साकेत, यशोधरा, द्वापर,
जयभारत, विष्णुप्रिया
परिवार ( Family )पिता ( Father ) – सेठ रामनारायण गुप्त
माता (Mother ) –
काशी बाई
धर्म (Religion)हिन्दू
  • 3 अगस्त, 1886 को मैथिलीशरण गुप्त का जन्म झाँसी, उत्तर प्रदेश में हुआ था। वे पिता ‘सेठ रामचरण गुप्त’ और माता ‘काशी बाई’ की तीसरी संतान के रूप में जन्मे थे।
  • उनकी आरम्भिक शिक्षा चिरगाँव, झाँसी के राजकीय विद्यालय में हुई। प्रारंभिक शिक्षा समाप्त करने के उपरान्त मैथिलिशरण गुप्त झाँसी के ही मेकडॉनल हाईस्कूल में अंग्रेज़ी पढ़ने के लिए भेजे गए, पर वहाँ इनका खेल-कूद में अघिक मन लगने लगा, जिस कारण ये अपनी आधिकारिक शिक्षा पूर्ण नहीं कर पाए।
  • बाकी की शिक्षा-दीक्षा इनकी घर से ही संपन्न हुई। घर पर रहकर गुप्त ने संस्कृत, हिन्दी तथा बांग्ला साहित्य का व्यापक अध्ययन किया। 
  • गुप्तजी आधुनिक काल के सर्वाधिक लोकप्रिय कवियों में से एक थे। इन्होने 40 मौलिक रचनाओं का सृजन किया। साथ ही, मैथिलीशरण गुप्त की 6 अनूदित (अनुवाद) पुस्तकें भी प्रकाशित हुई।
  • 1947 में भारत को आज़ादी मिलने के बाद उन्हें राज्य सभा का सदस्य मनोनीत किया गया। 1964 में अपनी मृत्यु तक वे राज्य सभा के सदस्य रहे। 12 दिसंबर, 1964 को मैथिलीशरण गुप्त का देहावसान हो गया।
  • वर्ष 1954 में उन्हें ‘पद्म भूषण’ सम्मान से अलंकृत किया गया।

साहित्यिक कृतियाँ

प्रमुख रचनाएँ प्रकाशन वर्ष 
रंग में भंग 1909 ई.
जयद्रथवध 1910 ई.
भारत भारती 1912 ई.
किसान 1917 ई.
शकुन्तला 1923 ई.
पंचवटी 1925 ई.
अनघ 1925 ई.
हिन्दू 1927 ई.
त्रिपथगा 1928 ई.
शक्ति 1928 ई.
गुरुकुल 1929 ई.
विकट भट 1929 ई.
साकेत 1931 ई.
यशोधरा 1933 ई.
द्वापर 1936 ई.
सिद्धराज 1936 ई.
नहुष 1940 ई.
कुणालगीत 1942 ई.
काबा और कर्बला 1942 ई.
पृथ्वीपुत्र 1950 ई.
प्रदक्षिणा 1950 ई.
जयभारत 1952 ई.
विष्णुप्रिया 1957 ई.
अर्जन और विसर्जन 1942 ई.
झंकार 1929 ई
स्रोत : संसद टीवी

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत के राष्ट्रपति | President of India

भारत के राष्ट्रपति : संवैधानिक प्रमुख 

Total
1
Shares
Previous Post
Bollywood आर्ट डायरेक्टर Nitin Desai ने की आत्महत्या : 252 करोड़ रुपये का था कर्ज

Bollywood आर्ट डायरेक्टर Nitin Desai ने की आत्महत्या : 252 करोड़ रुपये का था कर्ज

Next Post
कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो 18 साल की शादी के बाद अपनी पत्नी से अलग होंगे

कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो 18 साल की शादी के बाद अपनी पत्नी से अलग होंगे

Related Posts
Total
1
Share