लाल भ‍िंडी या हरी भिंडी में क्‍या है अंतर? कीमत से लेकर इम्‍युन‍िटी बूस्‍टर

लाल भ‍िंडी या हरी भिंडी में क्‍या है अंतर? कीमत से लेकर इम्‍युन‍िटी बूस्‍टर
Image Source : Patrika

उत्‍तर प्रदेश के मेरठ के कृषि मेले में एक से बढ़कर एक स्टॉल लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित
कर रहे हैं. यहां लाल भिंडी का स्टॉल भी खासा चर्चा के विषय में है. कृषि विज्ञान केंद्र से आए वैज्ञानिकों
ने लाल भिंडी के महत्व और इसकी खेती के बारे में जब किसानों को बताया तो वो हैरान रह गए कि
कैसे उनकी आय दोगुनी हो सकती है.

वैज्ञानिकों ने बताया कि वेस्ट यूपी के कई किसानों ने लाल भिंडी की खेती शुरू की है. साइंटिस्ट ने
बताया कि सामान्य भिंडी से 10% कम ज्यादा इसकी पैदावार होती है. गर्भवती महिलाओं के लिए ये
भिंडी वरदान है. बताया गया कि महिलाओं में आयरन की प्रतिपूर्ति दवाएं नहीं बल्कि लाल भिंडी करेगी.
महिलाओं में हीमोग्लोबिन, आयरन और इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए लाल भिंडी की खेती बेहद
अहम है. मेरठ के सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि विवि में लाल भिंडी हर किसी के आकर्षण का केंद्र बनी
है.

लाल भिंडी स्वाद से ज्यादा एक दवा है. इसका स्वाद एकदम सामान्य भिंडी सरीखा है, लेकिन 100 गुण
इम्यूनिटी बूस्टर गोलियों वाले हैं. गर्भवती महिलाएं, सामान्य महिलाएं, किशोरियों के अलावा सामान्य
व्यक्ति, बुजुर्ग इसे नियमित खा सकते हैं. पालक को सब्जियों में आयरन का सोर्स कहते हैं,लेकिन ये
भिंडी उससे ज्यादा गुणकारी है. वैज्ञानिकों के अनुसार, ये भिंडी एक दवा है. इसे जैविक खेती से उगाना
अच्छा है. बायो फोर्टिफाइट के रूप में इसे विकसित किया गया है. इसे जैविक रूप से उगाएं तो इसके
पौष्टिक गुण बरकरार रहते हैं. भारत में अभी सामान्य बाजार में तो लाल भिंडी की मांग कम है, लेकिन
होटलों, अस्पतालों और आर्गेनिक स्टोर पर इसकी बहुत मांग है. वर्तमान में जो हरी भिंडी 60 रुपए किलो
है. वहीं लाल भिंडी की कीमत 80 से 100 रुपए प्रति किलो तक है. होटलों, अस्पतालों में इसे काफी
खरीदा जा रहा है. बताया गया कि लाल भिंडी खाने से शरीर में 30% तक हीमोग्लोबिन ओर आयरन
बढ़ता है.

कृषि मेले में महिलाओं ने अपनी कारीगरी का हुनर भी दिखाया. कई ऐसे स्टॉल भी नज़र आए जहां
महिलाओं ने दीपावली के मद्देनज़र विशेष दीपक गणेश लक्ष्मी आदि बनाए हैं. सरकार की योजनाओं का
लाभ उठाकर महिलाओं का ख़ासा फायदा भी हो रहा है.

Total
0
Shares
Previous Post
कुछ लोग मच्छरों के लिए क्यों बन जाते हैं चुंबक, नए शोध ने दिया जवाब!

कुछ लोग मच्छरों के लिए क्यों बन जाते हैं चुंबक, नए शोध ने दिया जवाब!

Next Post
आदमी ने ट्रक को टमाटर से लोड करने के लिए अपनाई निंजा तकनीक

आदमी ने ट्रक को टमाटर से लोड करने के लिए अपनाई निंजा तकनीक

Related Posts
Total
0
Share
अंबाती रायडू से सम्बंधित कुछ तथ्य प्रसिद्ध शहर जहाँ धूम-धाम से मानते हैं गंगा-दशहरा : भारत के सबसे साफ़-सुथरे शहर नए संसद की भवन की खास बातें भारत के सबसे ऊँचे टीवी टावर उत्तर प्रदेश के सबसे अच्छे एक्सप्रेसवे भारत की सबसे पॉपुलर कारें लद्दाख ट्रिप मे क्या ध्यान रखें? ऐपल के ये मोबाइल फोन आते ही धमाल करेंगे | राघव चड्ढा और परिणीति चोपड़ा की सगाई मे आए मेहमान