Yamuna; Flood in Agra : बटेश्वर धाम के मंदिरों में भारी क्षति का अनुमान

hAFUBAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAALwGsYoAAaRlbhAAAAAASUVORK5CYII= Yamuna; Flood in Agra : बटेश्वर धाम के मंदिरों में भारी क्षति का अनुमान

आगरा में यमुना नदी में बाढ़ ने भयावह रूप धारण कर लिया है। केवल दिल्ली ही नहीं, यमुना के तट के समीप लगभग सभी स्थान डूबने के कागार पर हैं। इन्हीं में से एक है आगरा जिले में स्थित बटेश्वर मंदिर समूह। यमुना नदी के उफान से बटेश्वर की शिव मंदिर श्रृंखला पर बाढ़ के हालात बन चुके हैं। बाढ़ के पानी की ठोकर से निचले इलाके के मंदिरों पर भी खतरा मंडराने लगा है।

मीडिया रिपोर्ट्स में आ रही ख़बरों के अनुसार, 1978 में मंदिर का शिखर डूब गया था। खतरे को देखते हुए प्रशासन ने मंगलवार को मंदिर बाजार की दुकानें खाली करा लीं। बटेश्वर के अलावा कचौराघाट के प्राचीन शिव मंदिर में भी यमुना की बाढ़ का पानी घुस गया है। इसके अतिरिक्त, विक्रमपुर घाट स्थित मंदिर में भी पानी भर गया है।

इसके अलावा मथुरा में भी यमुना नदी के जल ने अपनी सीमायें लाँघ दीं हैं। यमुना किनारे बसे मथुरा-वृंदावन में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं। यहां बांकेबिहारी मंदिर से 500 मीटर की दूरी पर यमुना बह रही है। 

बटेश्वर धाम

यमुना नदी के किनारे बसा बटेश्वर धाम, यूपी के आगरा जिले की बाह तहसील में स्थित है। बटेश्वर धाम एक प्रसिद्ध हिन्दू तीर्थ स्थल भी है।  बटेश्वर के घाटों पर स्थित मन्दिरों की संख्या 101 है।

​​यमुना नदी के तट पर 101 शिव मंदिर एक ही क्रम मे पंक्तिबद्ध निर्मित हैं, समय चक्र तथा रख-रखाव की कमी के कारण कुछ मंदिरों का अस्तित्व वर्तमान समय मे खरते मे पड़ा हुआ है। इन मंदिरों का निर्माण राजा बदन सिंह भदौरिया ने यमुना नदी के प्रवाह को मोड़ने के लिए बने बाँध पर किया था। बटेश्वर का उल्लेख रामायण, महाभारत और मत्स्य पुराण जैसे पवित्र ग्रंथों में भी मिलता है।

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

भारत के राष्ट्रपति | President of India

भारत के राष्ट्रपति : संवैधानिक प्रमुख 

Total
0
Shares
Previous Post
विराट कोहली तोड़ेंगे दो-दो रिकॉर्ड 

विराट कोहली तोड़ेंगे दो-दो रिकॉर्ड 

Next Post
मल्लिकार्जुन खड़गे : जन्मदिन विशेष 21 जुलाई 

मल्लिकार्जुन खड़गे : जन्मदिन विशेष 21 जुलाई 

Related Posts
pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंग

भारत के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंग

12 ज्योतिर्लिंग स्तुति सौराष्ट्रे सोमनाथं च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम् ।उज्जयिन्यां महाकालम्ॐकारममलेश्वरम् ॥१॥ परल्यां वैद्यनाथं च डाकिन्यां भीमाशंकरम् ।सेतुबंधे तु…
Read More
Total
0
Share