RSS प्रमुख मोहन भागवत प्रेमानंद जी महाराज से मिलने पहुंचे वृन्दावन, राष्ट्रोत्थान पर हुई चर्चा 

hAFUBAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAALwGsYoAAaRlbhAAAAAASUVORK5CYII= RSS प्रमुख मोहन भागवत प्रेमानंद जी महाराज से मिलने पहुंचे वृन्दावन, राष्ट्रोत्थान पर हुई चर्चा 

प्रेमानंद जी महाराज वर्तमान समय के प्रसिद्ध संत हैं। उनकी कथाएं और भजन सुनने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। इसी सिलसिले में RSS प्रमुख डॉ. मोहन भागवत मथुरा वृन्दावन पहुंचे और श्री परम पूज्य प्रेमानंद जी महाराज से मुलाकात की। इस दौरान बौद्धिक एवं आध्यात्मिक चर्चा हुई। प्रेमानंद जी महाराज ने जो कहा उसे आज की नई पीढ़ी को जरूर सुनना चाहिए।

सुख एवं दुःख की स्थिति सत्य नहीं है।
सुख का स्वरुप विचार से है।

-श्री प्रेमानंद जी महाराज

आध्यात्मिक गुरु प्रेमानंद जी महाराज और मोहन भागवत की मुलाकात का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट होने के बाद चर्चा में है। मोहन भागवत ने महाराज को माला पहनाकर उनका आशीर्वाद लिया और उनके दर्शन कर प्रसन्न एवं आनंदित हुए। मोहन भागवत ने यह भी कहा- “मैंने वीडियो में आपकी बातें सुनीं, जिससे मुझे लगा कि एक बार दर्शन करना चाहिए…, आप जैसे लोग कम ही देखने को मिलते हैं,… ‘चाह हटी चिंता मिटी मनवा बेपरवाह’।

Discussion between Premanand Ji Maharaj and RSS chief Mohan Bhagwat

प्रेमानन्द जी महाराज- हमारे लोगों का जन्म व्यावहारिक एवं आध्यात्मिक सेवा के लिये ही हुआ है। ये दोनों सेवाएँ आवश्यक हैं। हम भारत के लोगों को बेहद खुश करना चाहते हैं और यह केवल वस्तुओं और सेवाओं के जरिए नहीं किया जा सकता, बल्कि इसके लिए उनका बौद्धिक स्तर भी बेहतर होना चाहिए। इस दौरान श्री प्रेमानंद जी ने यह भी कहा की गुफाओं में तप करके जो निष्कर्ष निकलता है वो भी, “सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया। सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चित् दुःखभाग् भवेत्।।”, ही है। 

इस वार्ता के पश्चात् आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने राष्ट्र निर्माण को लेकर निश्चिंतता व्यक्त करते हुए अपने ध्येय में दृढ़ता की भावना व्यक्त की।

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत के प्रधानमंत्री - Prime Minister of India

भारत के प्रधानमंत्री – Prime Minister of India

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

Total
0
Shares
Previous Post
BSF Day

सीमा सुरक्षा बल दिवस स्थापना दिवस – Border Security Force (BSF) Day : 1 December

Next Post
मेजर ध्यानचंद - Major Dhyanchand

मेजर ध्यानचंद : जयंती

Related Posts
भारत के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंग

भारत के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंग

12 ज्योतिर्लिंग स्तुति सौराष्ट्रे सोमनाथं च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम् ।उज्जयिन्यां महाकालम्ॐकारममलेश्वरम् ॥१॥ परल्यां वैद्यनाथं च डाकिन्यां भीमाशंकरम् ।सेतुबंधे तु…
Read More
Total
0
Share