सूरजकुंड मेला 2024 : Surajkund Mela 

hAFUBAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAALwGsYoAAaRlbhAAAAAASUVORK5CYII= सूरजकुंड मेला 2024 : Surajkund Mela 

हरियाणा के फरीदाबाद में सूरजकुंड मेले का आयोजन किया गया है। यह मेला हर वर्ष आयोजित किया जाता है। इसकी शुरुआत 2 फरवरी से हुई है और यह 18 फरवरी तक चलने वाला है। ऐसे में लोग यहां जाने का बेसब्री से प्लान बना रहे हैं। अगर आप भी यहां जाने का प्लान बना रहे हैं तो आपको जाने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

सूरजकुंड मेला 2024 के बारे में विस्तार सेSurajkund Mela 2024 in Details in Hindi

तारीख2 फरवरी से 18 फरवरी तक
प्रवेश समयसुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक
टिकट की कीमतसोमवार से शुक्रवार 120 रुपये , शनिवार और रविवार 180 रुपये
मुख्य आकर्षणक्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय शिल्प और परंपराओं का समृद्ध प्रदर्शन
कहां बुक करेंऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से आप बुकिंग कर सकते हैं ( https://in.bookmyshow.com/national-capital-region-ncr/events/37th-surajkund-international-crafts-mela-2024/ET00384717)

सूरजकुंड मेला विवरण

सूरजकुंड मेला सूरजकुंड मेला 2024
सूरजकुंड मेला 2024 6

सूरजकुंड मेला 2024 में जाने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

अगर आप मेला घूमने का प्लान बना रहे हैं तो सबसे पहले आपको मेला टिकटों पर ध्यान देना चाहिए।

  • मेला टिकट ऑनलाइन बुक करें। इससे आपको वहां जाकर इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अगर आप ऑनलाइन टिकट बुक नहीं करते हैं तो आपको वहां लाइन में खड़ा होना पड़ सकता है।
  • टिकट अवश्य रखें – मेले में प्रवेश के समय आपसे अपना टिकट दिखाने के लिए कहा जाएगा। यदि आप अपना टिकट बदलेंगे तो आपको प्रवेश नहीं मिलेगा। इसके अलावा प्रवेश पाने के बाद टिकट को फेंके नहीं। क्योंकि हो सकता है कि मेले में पुलिस अधिकारी दोबारा आपसे टिकट दिखाने को कहे। मेला छोड़ने तक टिकट सुरक्षित रखें।
  • ध्यान रखें कि यह एक शिल्प मेला है। यहां आपको स्टाइलिश कपड़े नहीं मिलेंगे। इसलिए अगर आप कपड़ों की खरीदारी के मकसद से जा रहे हैं तो आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।
  • पार्किंग के लिए आप पार्किंग के लिए ऑनलाइन पास भी बुक कर सकते हैं। इसमें आपको पार्किंग स्पेस के बारे में भी पता चल जाएगा। इससे आप अपनी पसंद के अनुसार जगह चुन सकते हैं।
  • अगर आप मेला देखने जा रहे हैं तो आप अपने साथ चाकू या किसी भी तरह की हिंसक वस्तु नहीं ले जा सकते।
  • आप एक टिकट से दो बार यात्रा नहीं कर सकते। यदि आप उस दिन मेले में नहीं जा पाते हैं जिस दिन आपने टिकट बुक किया है, तो आप इस टिकट के साथ दोबारा यात्रा नहीं कर सकते हैं।

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें और अपने किसी भी तरह के विचारों को साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करें।

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

Bharatiya Janata Party

भारतीय जनता पार्टी – BJP

pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

भारत रत्न : भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

Total
0
Shares
Leave a Reply
Previous Post
लता मंगेशकर - Lata Mangeshkar

लता मंगेशकर – Lata Mangeshkar

Next Post
उत्तराखंड - Uttarakhand : भारत की आध्यात्मिक निधि

उत्तराखंड – Uttarakhand : भारत की आध्यात्मिक निधि

Related Posts
Total
0
Share