Live Darshan : इस्कॉन आईजीसी अध्यक्ष गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज का निधन

Gopal Krishna Goswami Maharaj
Gopal Krishna Goswami Maharaj

गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज का निधन, वृंदावन में दी जाएगी समाधि।

इस्कॉन इंडिया की गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज (Gopal Krishna Goswami Maharaj) का अस्सी (80) वर्ष की आयु में रविवार को निधन हो गया है। उनका निधन देहरादून में हुआ है, जिसके बाद उनके भक्तों में शोक की लहर है। गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज देहरादून में श्रीश्री राधा बांके बिहारी मंदिर का भूमि पूजन करने के लिए आए थे, जहाँ वह अचानक फिसलकर गिए गए। जिसके बाद उन्हें नज़दीकी अस्पातल में भर्ती करवाया गया, जहाँ उनका निधन हो गया। बता दें कि महाराज को 06 मई दोपहर 2:30 बजे वृंदावन में समाधि दी जाएगी।

Live समाधि दर्शन – Samadhi Darshan

समाधि प्रक्रिया शुरू

6 मई 2024 को समाधि समारोह कार्यक्रम – Samadhi Ceremony Schedule for 6th May 2024
सुबह 5.30 बजेदिल्ली से प्रस्थान
सुबह 8.30 बजेवृन्दावन आगमन
दोपहर 1:00 बजे तकपरम पावन के दर्शन
दोपहर 3:30समाधि प्रक्रिया प्रारम्भ

दिल का दौरा पड़ने से हुआ निधन

गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज देहरादून के दुधली में स्थित श्रीश्री राधा बांके बिहारी मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए पहुंचे थे। वह यहाँ के शौचालय में अचानक फिसलकर गिए गए थे, जिसके बाद महाराज को तुरंत अस्पातल ले जाया गया। वह अस्पताल में तीन दिन से भर्ती थे। अस्पताल में इलाज के दौरान महाराज की तबियत अचानक बिगड़ गई और उन्हें दिल का दौरा पड़ गया। दिल का दौरा पड़ने की वजह से उन्होंने 05 मई, 2024 को सुबह 9 बजकर 20 मिनट पर आखिरी सांस ली।

वृंदावन में दी जाएगी समाधि

नई दिल्ली में जन्में गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज को वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में बनी गोशाला के पास समाधि दी जाएगी। बता दें कि पहले महाराज के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा, जिसके बाद दोपहर को लगभग तीन बजे उन्हें समाधि दी जाएगी। जानकारी के अनुसार न सिर्फ भारत से बल्कि पूरी दुनिया से भक्त अपने गोस्वामी महाराज के अंतिम दर्शन के लिए वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में पहुंचेंगे। ऐसा अनुमान है कि दो लाख से ज़्यादा भक्त उनके अंतिम दर्शन करने के लिए वृंदावन पहुंच सकते हैं।

iskcon Live Darshan : इस्कॉन आईजीसी अध्यक्ष गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज का निधन

गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज के बारे में

वास्तविक नामगोपाल कृष्ण
जन्म तिथि: 14 अगस्त, 1944 अन्नदा एकादशी
जन्म स्थान:नई दिल्ली
शिक्षा: डीयू, सोरबोन यूनिवर्सिटी से बिजनेस मैनेजमेंट, मॉन्ट्रियल में मैकगिल यूनिवर्सिटी से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री
गुरु:श्रील प्रभुपाद
प्रसिद्ध:इस्कॉन आईजीसी अध्यक्ष
गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज के बारे में

सनातन व अध्यात्म जगत की अपूरणीय क्षति

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज के निधन को सनातन व अध्यात्म जगत के लिए अपूरणीय क्षति बताया है, तो वहीं पीएम मोदी ने लिखा है कि ‘श्री गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज एक श्रद्धेय आध्यात्मिक प्रतीक थे, जिन्हें भगवान श्री कृष्ण के प्रति उनकी अटूट भक्ति और इस्कॉन के माध्यम से उनकी अथक सेवा के लिए विश्व स्तर पर सम्मान दिया जाता था। उनकी शिक्षाओं में दूसरों के प्रति भक्ति, दया और सेवा के महत्व पर जोर दिया गया। उन्होंने इस्कॉन के सामुदायिक सेवा प्रयासों का विस्तार करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, विशेष रूप से शिक्षा, स्वास्थ्य और जरूरतमंदों की सेवा जैसे क्षेत्रों में। इस दुखद घड़ी में मेरी संवेदनाएं सभी भक्तों के साथ हैं। ओम शांति।’

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें।

देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले पाने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
KF Rustamji

के एफ रूस्तमजी – KF Rustamji : जयंती विशेष

Summer Health Tips

Summer Health Tips: गर्मी में खुद को कैसे रखें कूल? 

ताजा खबर - Latest News

ताजा खबर – Latest News

UltranewsTv देशहित

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें | देश-दुनिया, राजनीति, खेल, मनोरंजन, धर्म, लाइफस्टाइल से जुड़ी हर खबर सबसे पहले जानने के लिए UltranewsTv वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें।
bharat-ke-up-pradhanmantri

भारत के उप प्रधानमंत्री — Deputy Prime Ministers of India

भारत के राष्ट्रपति | President of India

भारत के राष्ट्रपति : संवैधानिक प्रमुख 

pCWsAAAAASUVORK5CYII= परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

परमवीर चक्र : मातृभूमि के लिए सर्वोच्च समर्पण

Total
0
Shares
Leave a Reply
Previous Post
Motilal Nehru

मोतीलाल नेहरू – Motilal Nehru : जयंती विशेष

Next Post
Lok Sabha Election 2024

Lok Sabha Election 2024: तीसरे चरण में 93 सीटों पर होगी वोटिंग

Related Posts
pCWsAAAAASUVORK5CYII= भारत के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंग

भारत के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंग

12 ज्योतिर्लिंग स्तुति सौराष्ट्रे सोमनाथं च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम् ।उज्जयिन्यां महाकालम्ॐकारममलेश्वरम् ॥१॥ परल्यां वैद्यनाथं च डाकिन्यां भीमाशंकरम् ।सेतुबंधे तु…
Read More
Total
0
Share